रिटायरमेंट..

सबको नही मिलती,‘रिटायरमेंट’हम रोज कुआं खोदते है,रोज पानी पीते है…इकट्ठा कर सके कल के लिए,इतना मयस्सर ना हुआ,अब तो अच्छा लगता है…मेहनतकशीं भी एक लत

Continue reading

Rate this: