जरूरत हो, जिंदगी हो.. क्या हो तुम ?

सुनो !
तुम मेरी जिंदगी में,
नमक जैसी हो…..

Continue reading

Rate this: