हाँ मैंने देखा है…

हाँ रहता है मुझमें कही वो,
मिलता भी है मुझसे रोज,
सिरहाने पड़ी किताबों के पन्नों में….

Continue reading

Rate this: