Uncategorized

संबल..

सम्बल का मतलब तब समझ आया,
जब खुद को उसकी तलब लगी थी,
बड़ी मुश्किल से मिला था,
पर जब मिला तो,
आंखों से मोती बन टपक पड़ा,
अब मैं भी सम्बल बनूँगा,
किसी अपने की,
किसी अनजाने की,
क्योकि अब मैं सम्बल का मतलब समझ गया हूँ।।

Standard