Uncategorized

मंजिल की नाराजगी…

तुम चलना भी नहीं चाहते,

और कहीं पहुंचना भी चाहते हो,

 बस यही बात मंजिल को नाराज करती है

 तुम कहीं पहुंच नहीं रहे,

 इसका मतलब तुम चल नहीं रहे

उस तरफ उधर,

जिधर तुम्हें पहुंचना है……

Standard