मैं सरल होना चाहता हूँ…

मैं सरल होना चाहता हूँ,

जैसा हूँ , हाँ बस ठीक वैसा ही,

बिना किसी बनावटीपन के

बिलकुल वैसा , जैसा हूँ मैं….

गुस्सा,क्षोभ, जलन, प्यार

सब आते जाते रहते हैं,

बुद्धिमत्ता,गवारपन,

सुंदरता , स्मार्टनेस

ये भी अस्थायी हैं…

मैं भी ऐसा ही हूँ ,

जैसे सब होते हैं….

ऐसे ही अपना लो मुझको,

शुद्ध , सरल अवस्था में,

क्यों मुझे कंप्लेक्सिसिटी की

उधेड़-बुन में ले जाना चाहती हो..

ऐसे ही अपना लो मुझको,

मैं सरल ही रहना चाहता हूँ।।

6 thoughts on “मैं सरल होना चाहता हूँ…

Add yours

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

A WordPress.com Website.

Up ↑